कामदेव वशीकरण मंत्र फॉर लव

कामदेव वशीकरण मंत्र फॉर लव
कामदेव वशीकरण मंत्र फॉर लव

कामदेव वशीकरण मंत्र फॉर लव

कामदेव मंत्र साधना/प्रयोग, कामदेव मंत्र फॉर लव/अट्रैक्शन, कामदेव बीज मंत्र- इस सृष्टि में निवास करने वाले सभी प्राणियों का जीवन आहार, निद्रा, मैथुन पर ही टिका हुआ है| अन्य प्राणियों के लिए मैथुन उनके अस्तित्व के लिए आवश्यक प्रजनन के लिए जरूरी है, जबकि मनुष्य के लिए प्रजनन के साथ-साथ जीवन के उत्साह और आनंद हेतु भी आवश्यक है| दूसरी तरफ, यह भी सत्य है कि इस दुनिया में अनेक मनुष्य ऐसे भी हैं जिनके जीवन में साथी होते हुए भी काम सुख नहीं है, या इच्छित साथी नहीं है| इसके पीछे अनेक कारण हो सकते हैं, जैसे साथी में या खुद में इच्छा का सुप्त हो जाना, साथी के साथ तालमेल की कमी आदि| ऐसी स्थिति से उबरने के लिए ज्योतिष शास्त्र में कामदेव वशीकरण मंत्रों की व्याख्या की गई है| कामदेव मंत्र साधना  शारीरिक आकर्षण में वृद्धि के साथ-साथ साथी के हृदय परिवर्तन में भी समर्थ  है| परंतु यह भी आवश्यक है कि इन मंत्रों का उपयोग किसी बुरे इरादे से न किया जाए| ऐसे लोगों को कामदेव से संबन्धित शास्त्रों में वर्णित जानकारी अवश्य ले लेनी चाहिए| भारतीय धर्म ग्रंथो के अनुसार कामदेव प्रेम व सौन्दर्य के देवता हैं तथा उनकी पत्नी का नाम रति है|  कामदेव प्रेम रति के पति कामदेव ने साधना में लीन शिव पर तीर चलाया, क्रोधित शिव ने त्रिनेत्र खोल दिया, फलस्वरूप कामदेव वहीं भस्म हो गए| अभिप्राय यह कि जीवन में काम आवश्यक अवश्य है परंतु इतना नहीं कि इसका प्रयोग कहीं भी, किसी पर भी किया जा सके|

कामदेव वशीकरण मंत्र फॉर लव
कामदेव वशीकरण मंत्र फॉर लव

1 आकर्षण वृद्धि मंत्र

यदि व्यक्तित्व में आकर्षण हो, तो साथी दूर नहीं जाता न वह आपसे अप्रसन्न रह पाता है| इसलिए कामदेव को सिद्ध करने का प्रथम चरण में आकर्षण बढ़ाने के उपायों की चर्चा की गई है| निम्नलिखित मंत्र का जाप प्रतिदिन 21 बार निरंतर 101 दिन तक करने से व्यक्तित्व में गज़ब का आकर्षण आ जाता है –

“ऐं पिन्स्थां कलीं काम-पिशाचिनी शिघ्रं
‘अमुक’ ग्राह्य ग्राह्य, कामेन मम रुपेण वश्वैः
विदारय विदारय, द्रावय द्रावय, प्रेम-पाशे
बन्धय बन्धय, ॐ श्रीं फट्

2100 जाप के बाद यह मंत्र सिद्ध हो जाता है| अपने जिस साथी पर प्रयोग करना हो उसके नाम का स्मरण करें तथा 108 बार प्रतिदिन जाप करें| ऐसा करने से आपमे आए आकर्षण का प्रभाव उस पर पड़ेगा तथा उसके मन में आपके प्रति प्रेम जाग्रत हो जाएगा|

 

इसके अतिरिक्त निम्नलिखित शुक्र मंत्र भी आकर्षण बढ़ाने में लाभप्रद है –

मंत्र :- ॐ द्राँ द्रीँ द्रौँ स: शुक्राय नम:

– ॐ शं सम्मोहनाय फट्

इस मंत्र के जाप से आकर्षण में वृद्धि, नपुंसकता से मुक्ति के साथ-साथ साथी को सम्मोहित भी किया जा सकता है|

2 कामदेव गायत्री मंत्र

यदि दाम्पत्य जीवन में कामसुख का अभाव हो, जीवनसाथी आपको पसंद न करता हो जैसी स्थिति हो तो निम्नलिखित कामदेव गायत्री मंत्र अत्यंत लाभदायक हो सकता है| –

ॐ क्लीं कामदेवाय विद्महे, पुष्प बाणाये धीमहि ,
तन्नो अनंग प्रचोदयात !!
इस मंत्र का जाप कामदेव अथवा श्रीकृष्ण की प्रतिमा अथवा चित्र के समक्ष सफटिक की माला पर करें| प्रतिदिन 108 जाप निरन्तर 6 मास तक करने से चमत्कारी प्रभाव दिखते हैं| इस मंत्र की खास विशेषता यह है कि यह नपुंसकता को दूर करती है तथा पारस्परिक प्रेम में वृद्धि करती है|

3 कामदेव वशीकरण मंत्र

निम्नलिखित कामदेव वशीकरण  मंत्र का उपयोग स्त्री तथा पुरुष दोनों कर सकते हैं|

 

ॐ नमः काम-देवाय। सहकल सहद्रश सहमसहलिए
वन्हे धुनन जनममदर्शनं उत्कण्ठितं कुरु कुरु,
दक्ष दक्षु-धर कुसुम-वाणेन हन हन स्वाहा।

इस मंत्र का जाप दिन के तीनों प्रहर में निरंतर एक महीने तक एक माला करें| जाप हेतु स्फटिक की माला रखें| एक महीने बाद यह  मंत्र सिद्ध हो जाता है| अपने जिस साथी पर इस मंत्र का प्रयोग करना हो उसका चित्र सामने रखें तथा उसकी तरफ देखते हुए एक माला जाप करें| इससे आपके साथी के मन में सुप्त हो चुकी कामना फिर से जाग उठेगी|

4 कामदेव वशीकरण गणेश मंत्र

दाम्पत्य जीवन में सुख के लिए गणेश जी की आराधना भी अत्यंत लाभदायक होती है| देश के उत्तरीय राज्यों में गणेश जी की पूजा स्त्रियाँ इसलिए करती हैं क्योंकि वह सुहाग-भाग बांटते है| निम्नलिखित गणेश मंत्र का नित्य पाठ करने से जीवनसाथी जीवनपर्यंत आपके आकर्षण में बंधा रहेगा-

 ।।ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरदं सर्व जनं मे वशमानाय स्वाहा।।

यह गणेश जी का सुप्रसिद्ध वशीकरण मंत्र है, यह कभी निष्फल नहीं जाता है|

 

5 काम बीजमंत्र

निम्नलिखित काम बीज मंत्र अत्यंत प्रभावशाली है| इसे विधिवत संकल्प लेकर जाप करने सिद्ध किया जा सकता है

 ” क्लीं कामदेवाय नमः ”

संकल्प लेने के उपरांत 3 लाख बार इस मंत्र का जाप 21 दिनों में पूर्ण करें करें| जाप सूर्योदय से पूर्व तथा रात्रि  में करें| जाप समाप्त होने के बाद पूर्णाहुति हवन, तर्पण तथा मर्जन तीनों विधि से अनुष्ठान करें| प्रसाद में अपने साथी के पसंद का मिष्ठान्न रखें| इसके बाद यह मंत्र सिद्ध हो जाता है| जिस पर प्रयोग करना हो उसे यह प्रसाद का मिष्ठान खिला दें| इससे वह वशीभूत हो जाएगा| इतना ही नहीं  इस मंत्र के चमत्कारी प्रभाव से आपका सौन्दर्य अप्रतिम हो जाएगा| व्यक्तित्व  में स्वाभाविक सम्मोहन आ जाएगा| परिणामस्वरूप आपका साथी आपसे दूर नहीं रह पाएगा|

6 कामदेव शाबर मंत्र

निम्नलिखित कामदेव शाबर मंत्र के जाप से कितना भी दुखी दाम्पत्य जीवन हो, उसमे वसंत के फूल खिल उठते हैं –

ऊँ नमो भगवते कामदेवाय यस्य यस्य दृश्यो भवामि यस्य यस्य मम मुखं पश्यति तं तं मोहयतु स्वाहा।’

7 अन्य कामदेव वशीकरण मंत्र

ओम नमो भगवते काम-देवाय श्रीं सर्व-जन-प्रियाय

सर्व-जन-सम्मोहनाय

ज्वल-ज्वल, प्रज्वल-प्रज्वल, हन-हन, वद-वद, तप-तप,

सम्मोहय-सम्मोहय, सर्व-जनं मे वशं कुरु-कुरु स्वाहा।

उक्त मंत्र के जाप से शत्रु भी सम्मोहित होकर शत्रुता त्याग देता है| यदि जीवनसाथी छोडकर चला गया हो अथवा अत्यधिक नाराज हो तो इस मात्र के जाप से उसे मनाया जा सकता है|

कामदेव को वश में करने के आसान टोटके

दैनिक जीवन की समस्याओं के कारण यदि मंत्र साधना कठिन प्रतीत हो तो छोटे-छोटे टोटकों की सहायता से भी जीवन में काम उद्दीपन जाग्रत किया जा सकता है| इसके लिए निम्नलिखित में से अपनी सुविधानुसार किसी एक का चयन किया जा सकता है|

  • गूलर की जड़ सफ़ेद रुमाल में सफ़ेद धागे से बांधकर शुक्रवार के दिन धारण करें |
  • केले में गोरोचन मिलाकर लेप तैयार करें तथा इसे सिर पर लगाएँ| इससे आकर्षण में वृद्धि होती है|
  • दूध से स्नान करें तथा चींटी को शक्कर दें|
  • घर में हरसिंगार का पौधा लगाकर सुबह और शाम उसमे पानी डालें तथा इस पौधे को अपनी समस्या बताएँ|
  • सफ़ेद मूंगा की अंगूठी चांदी में मढ़वाकर किसी जानकार से सिद्ध करवाएँ तथा तर्जनी में धारण करें|

 

[Total: 46    Average: 4.4/5]
About वशीकरण विधि 19 Articles
वशीकरण विधि वशीकरण एक आद्यात्मिक कला है जिसको बहुत कठिन आत्मिक तपस्या के बल से प्राप्त किया जाता है. वशीकरण विधि को एक बार प्राप्त कर के आप अपना मनचाहा काम पल भर मे पूरा कर सकते हो.वशीकरण विधि का दुरूपयोग करने से ये विधि काम करना बंद कर देती है, इसलिए धारक को ये सलाह दे जाती है की वो वशीकरण विधि का वही उपयोग करे जहा इसकी वास्तव मे नेक कार्य मे जरुरत हो.किसी भी कार्य के अनुसार वशीकरण की अलग अलग विधि उपयोग मे लायी जाती है. एक वास्तव वशीकरण विधि धारक वो है जो समस्या को समझ के सही वशीकरण विधि का उपयोग करे.