स्त्री वशीकरण के नुस्खे

स्त्री वशीकरण के नुस्खे
स्त्री वशीकरण के नुस्खे

स्त्री वशीकरण के नुस्खे

स्त्री वशीकरण के नुस्खे, स्त्री वशीकरण का अर्थ उसके दिल में अपना प्रेम जागृत कर उसे मानसिक तौर पर अपने कब्जे में करना है। इसकी जरूरत प्रेमियों और नव दंापतियों को होती है।

हर प्रेमी या पति चाहता है कि उसकी पे्रमिका या पत्नी उसके प्यार को, उसकी भावनाओं को, उसके वैचारिक सोच को और उसकी जरूरतों को  न केवल तहे दिल से समझे, बल्कि उसके साथ एक हद तक प्यार करे।

स्त्री वशीकरण के नुस्खे
स्त्री वशीकरण के नुस्खे

ऐसा आपसी बात-व्यवहार, सच्चा प्रेम और समर्पण से संभव है। साथ ही किसी स्त्री को वैदिक व ज्योतिषीय उपाय, अनुष्ठान व मंत्र-जाप, साधनाएं और टोटके से भी वशीकरण किया जा सकता है। कुछ नुस्खे इस प्रकार हैंः-

मंत्र जाप और सुपारी

वशीकरण का यह तरीका किसी भी स्त्री पर लागू हो सकता है। वैसी पत्नी पर तो इसका विशेष असर होता है, जो बात-बात पर लड़ने-झगड़ने लगती है। ऐसा लगता है कि उसे उसकी बजाय रुपये-पैसे से प्रेम है। इसके लिए नीचे दिए गए मंत्र के 108 बार जाप कर सुपारी को अभिमंत्रित किया जाता है।

उसके बाद वह सुपारी जिस स्त्री को खिला दिया जाता है वह निश्चित रूप से वश में आ जाती है। इस मंत्र के प्रयोग से किसी वशीकृत स्त्री को मुक्त करवाकर अपने वश में अपने वश में किया जा सकता है। मंत्र इस प्रकार हैः-

ऊँ क्तीं सः अमुक वशं कुरू कुरू स्वाहा! 

इसमें अमुक के स्थान पर वशीकरण किए जाने वाली स्त्री का नाम लेना होता है। इसका प्रयोग निम्न प्रकार से किया जाना चाहिए।

  • प्रयोग से पहल प्रातः सूर्योदय से पूर्व स्नानआदि से खुद को शुद्ध कर लें और विधिवत पूजन विधि के तैयार कर लें।
  • एक साबुत सुपारी लें। यही पूजा का मुख्य सामग्री होती है। जाप के लिए एक रुद्राक्ष माला रख लें। अन्य समाग्रियों में एक साबुत डंटल समेत पान का पत्ता, पुष्प्, अक्षत, धूप दीप और रोली आदि रख लें।
  • घर के पूजा स्थल पर दीप जालाएं और उसे कुछ पल के लिए टक निहारते हुए वशीकरण किए जाने का नाम लें। पान के पत्ते पर रोली से उसका नाम लिख दें। उसके बाद उसपर सुपरी रखकर अक्षत डाल दें।
  • रुद्राक्षक् की माला से मंत्र का 108 बार जाप करें। उसके बाद सुपारी को हटाकर सुरक्षित रख लें। 
  • अगले रोज जब भी प्रेमिका या पत्नी से मिलें उसे सुपारी भेंट करें और इसे पूजा स्थल पर रखकर   मां देवी की पूजा करने का आग्रह करें और उसे टुकड़े कर खाने के लिए कहें।

पैर की मिट्टी और मंत्रजाप

स्त्री में वश में करने के लिए पहले उसके बाएं पांव के नीचे से थोड़ी मिट्टी एक पुड़िया में रख लें। उसे नीचे दिए गए मंत्र के 21 बार जाप से अभिमंत्रित करें। उसी दिन स्त्री के सिर पर मिट्टी को डाल दें। इसका असर तुरंत होता है और वह आज्ञाकारी बन जाती है। मंत्र है-

कला कलुआ चैंसठ वीर, ताल भागी तीर।

जहां को भेजूं वहीं को जाए, मांस-मज्जा को शब्द बनाए।

टपना मारा, आप दिखाए, चल वाण मारूं, उलट मूठ मारूं।

मर मार कलुआ, चैमुख दिया, मार वादी की छाती।

ठतना काम मेरा न करे तो तूझे माता का दूध पिया हराम। 

आंखों से वशीकरण

जिस किसे को चाहते हैं, लेकिन उसकी चाहत आपके प्रति नहीं बन पर रही हो, तो नीचे दिए गए मंत्र के मन में जाप के साथ उसकी आंखों से नजर मिलाएं। वह हमेशा के लिए अपके वश में आ जाएगी। ये प्रेमिका पर काफी असर करता है। प्रयोग से पहले दिए गए मंत्र को कंठस्थ कर लें। मंत्र है-

एं भग भुगे भगनी भागादरि भगमाले योनि, भगनिपतिनि सर्वंभग संकरी भगरूपे नित्य।

क्लैं भगस्वरूपे सर्व भगानि मे वशमानय, वरदेरेते सुरेते भग लिंकने क्लीं न द्रवे क्लेदय।

द्रावय अमोधे भग विधे क्षुभ क्षोभय सर्व, सत्वामगेश्वरी एं लकं जं ब्लूं ब्लूं भैं भौं बलूं।

हे हें क्लिने भगानि तस्मै स्वाह। 

कुछ टोटके 

कुछ मामलों में पुरुष जिस स़्त्री को चाहता है, वह उसके आकर्षण में बंध नहीं पाती है। ज्यादातर ऐस प्रेमी या नवविवाहितों के साथ होता है। उसे अपनी प्रेमिका को अकर्षित करने के लिए कुछ टोटके अपनाने चाहिए, जिनसे वशीकरण में मदद मिल सकती है।

  • पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र में अनार की लकड़ी तोड़ लाएं। उसे प्रातः सूर्योदय से पहले धूप देकर उसे अपनी दांयी भुजा में बांध लें। इससे पहले गायत्री का मंत्र 108 बार जाप कर लें। इससे किसी भी  स्त्री का वशीकरण किया जा सकता है। 
  • सबसे पहले वशिभूत किए जाने वाली लड़की या स्त्री का नाम लाल स्केच पेन या सिंदूर और पानी के लेप से एक सफेद कागज पर लिखें।  उस कागज को पांच बार मोड़कर जला दें। उसके बाद उसकी राख को पानी या चाय में मिला कर पी लें। संभव हो तो उसकी चाय में भी थोड़ा मिला दें। वह लड़की निश्चित तौर पर आपके वश में न केवल आ जाएगी, बल्कि हमेशा के लिए आपके आकर्षण में बंधी भी रहेगी।         
  • काकजंघा, तगर और केसर को मिलाकर पीसने के बाद तैयार गाढ़े लेप को ललाट पर लगाएं। इस स्थिति में वशीभूत करने के लिए स्त्री के पास जाएं। वह इसके गंध और रंग को देखकर वश में आ जाएगी। उसी समय पीसी हुई लेप का कुछ हिस्सा उसकी ललाट पर भी लगा दें और कुछ उसकी पैरों के नीेचे भी डाल दें। 
  • छोटी इलाइची, लाल चन्दन, सिंदूर, कंगनी, काकड़सिंगी आदि सामग्री को इकट्ठा कर धूप बनाएं। इसे वशीभूत करने के लिए जिस किसी स्त्री के सामने लगातार पांच दिनों तक धूप दिया जाएगा वह वशीकृत हो जाएगी। इस प्रयोग को पत्नी के साथ करने से उसे न केवल अपने आकर्षण में बांधा जा सकता है, बल्कि उसका किसी और के प्रति वशीकरण को खत्म भी किया जा सकता है। यही नहीं उसकी सहवास में साथ देने के लिए लिए भी कामवासना से प्रेरित किया जा सकता है।
  • यह नुस्खा पत्नी के पूर्व प्रेमी के साथ चल रहे चक्कर से निकालने में उपयोगी साबित हो सकता है। गुरुवार के दिन पत्नी की साई अवस्था में चोटी के कुछ बाल काट लें। उसे रात के समय जला दें और अपने पैरों के नीचे कुचल दें। ऐसा तीन गुरुवार को करें। इस दौरान उसकी खूबियों और खूबसूरती की तारीफ के पुल बांध दें। पत्नी का दूसरे के साथ का चक्कर खत्म हो जाएगा। 
  • नुस्खे के लिए भोजपत्र का टुकड़ा लें। उसपर लाल चन्दन से उस स्त्री का नाम लिखें, जिसे आप वश में करना चाहते हैं। उसे पांच दिनों तक किसी सुरक्षित स्थान पर रख दें। बाद में उसे शहद की शीशी में रखकर शहद में डूबा दें। वह स्त्री आपके वश में आ जाएगी।

लड़की पटाने के लिए वशीकरण

[Total: 1    Average: 5/5]
About वशीकरण विधि 20 Articles
वशीकरण विधि वशीकरण एक आद्यात्मिक कला है जिसको बहुत कठिन आत्मिक तपस्या के बल से प्राप्त किया जाता है. वशीकरण विधि को एक बार प्राप्त कर के आप अपना मनचाहा काम पल भर मे पूरा कर सकते हो.वशीकरण विधि का दुरूपयोग करने से ये विधि काम करना बंद कर देती है, इसलिए धारक को ये सलाह दे जाती है की वो वशीकरण विधि का वही उपयोग करे जहा इसकी वास्तव मे नेक कार्य मे जरुरत हो.किसी भी कार्य के अनुसार वशीकरण की अलग अलग विधि उपयोग मे लायी जाती है. एक वास्तव वशीकरण विधि धारक वो है जो समस्या को समझ के सही वशीकरण विधि का उपयोग करे.